भारत मां की यशस्वी संतान,स्वयंसेवक,एकात्म मानववाद के जनक तथा भारतीय जनता पार्टी के आदिपुरूष -संस्थापक पं दीन दयाल जी को जयंत्ती पर शत-2 नमन।समस्त राष्ट्रवादी बंधुओ को शुभकामनाएँ हार्दिक बधाई-श्रीनिवास शंकर,इलाहाबाद ,राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य भाजपा(कानूनी एवं विधिक विभाग) भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री हम सबके श्रद्धेय स्व.अटल बिहारी बाजपेयी के निधन पर पूरा देश दुखी है।शोक मे डूब गया है।महान नेता बहुमुखी प्रतिभा के धनी हम सबके प्रेरणा स्रोत अटल जी को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि-शत-2 नमनकारगिल विजय की वर्षगांठ पर उन 563 वीर शहीदों को हार्दिक श्रद्धांजलि और शत शत नमन। वे हमारे दिलों सदा अमर रहेंगे।हमारी सेना को विजय की हार्दिक बधाई।जय हिंद-जय हिंद की सेना।-श्रीनिवास राय शंकर।राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य,भाजपा,विधि एवं विधायी विभाग      

Allahabad   27
इलाहाबाद। भारतीय जनता पार्टी लोकसभा चुनाव २०१९ में एक बार फिर जीत का परचम लहराने की आस लगाए बैठी है, लेकिन संगठन के बड़े पदाधिकारी आम कार्यकर्ताओं से मिलना तक मुनासिब नहीं समझ रहे हैं। इसका ताजा उदाहरण तब देखने को मिला जब प्रदेश के संगठन मंत्री सुनील बसंल दो दिवसीय नगर दौरे पर आये। शुक्रवार को दोपहर जब सर्किट हाउस में स्थानीय कार्यकर्ताओं ने अपनी समस्याओं को लेकर संगठन मंत्री से मिलने का वक्त मांगा तो उन्हें बहाने बाजी करते हुए इधर-उधर कराया गया और मिलने नहीं दिया गया। कई बार स्थानीय कार्यकर्ताओं की कोशिश के बाद भी संगठन मंत्री से मुलाकात नहीं हो सकी। महानगर उपाध्यक्ष देवेश सिंह का कहना है कि संगठन मंत्री से मिलने के लिए हम लोग लगातार सर्किट हाउस में उपस्थित रहे। लेकिन हम सबको मिलने से वंचित कर दिया गया। देवेश ने आरोप लगाया कि भाजपा एक लोकतांत्रिक पार्टी है, इसमें कार्यकर्ताओं की समस्या सुनी जाने की परम्परा रही है, लेकिन इस बीच पार्टी संगठन में एक नया चलन चल गया है कि आम कार्यकर्ताओं को उपेक्षित कर चंद लोगों के साथ बंद कमरे में मीटिंग होने लगी है। संगठन के बड़े पदाधिकारियों द्वारा क्षेत्रीय समस्याओं को नजरअंदाज कर अगर इसी प्रकार बंद कमरे में मीटिंग होती रही तो संगठन को मजबूती कैसे मिलेगी। बंद कमरों की मीटिंग से पार्टी का कितना भला होगा। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा को २०१९ का लोकसभा चुनाव पूर्ण बहुमत से जीतना है तो बूथ स्तर से लेकर जिला स्तर के कार्यकर्ताओं से मिलकर उनकी समस्या सुनना अति आवश्यक है, क्योंकि किसी पार्टी का कार्यकर्ता ही उसकी मजबूती का कारण होता है। यह बात संगठन के पदाधिकारियों को समझी होगी कि आम कार्यकर्ताओं को उपेक्षित कर संगठन को मजबूती प्रदान नहीं की जा सकती है। ...


Leave a comment