नई दिल्ली   73
यह कडवी सच्चाई है कि हम इसाईयो ओर मुस्लिम से वैचारिक धरातल पर बौद्धिक युद्ध के लिए बिल्कुल तैयार नही है । न ही इस क्षेत्र मे तैयारी की किसी भी हिनदू संगठन को रूचि है । मुझे इसाईयो की तैयारियो की जानकारी नही है ।इस लिए मै उस संदर्भ मे टिप्पणी नही करूंगा इस्लाम ने भारत मे हिन्दूओ से वैचारिक युद्ध की जो तैयारी कर रखी है उस की एक छोटी सी झलक पेश करूंगा । इस समय 39 इस्लामिक विश्व विद्यालय देश मे यूजीसी से मान्यताप्राप्त है। देश मे 87इसलामिक सूचना केंद्र कार्यरत है जोकि 28 भारतीय भाषाओ मै सप्ताह के सातो दिन चौबीसो घंटे गैर मुस्लिम को ईसलाम के बारे कोई सूचना उपलब्ध कराने जुटे हुए है। जमायत ईसलामी ने हिन्दूओ ग्रंथो की fault lines जानकारी देने के लिए दो दो घंटे की अवधि वाले 15 विडियोज तैयार करवाए है। देश मे 56 टी वी चैनल 12 भारतीय भाषाओ मे ईसलाम का प्रचार करने जूटे हुए है। अकेले जमायत इस्लामी द्वारा देश मे विभिन्न 27 भारतीय भाषाओ मे इस्लाम के प्रचार के लिए 219 पत्र पत्रिकाए प्रकाशित की जा रही है। सभी भारतीय भाषाओ मै इस्लामिक साहित्य के प्रकाशन के लिए एक दर्जन ट्रस्टो का गठन किया है।इस वर्ष देश मे 125 कुरान मैलो का आयोजन किया जा रहा है जिन 34 भारतीय भाषाओ मे दो करोड कुरान का मफत वितरण गैर मुस्लिम मे किया जाए गा। यह सिर्फ एक संगठन जमायत इसामी की तैयारियो की झलक मात्र है। अनय इस्लामिक संगठनो कै बारे मै बाद मै जानकारी उपलब्ध करवाई जाए गी।-मनमोहन शर्मा जी ...


Leave a comment