नई दिल्ली / वाराणसी   236
आईआईटी बीएचयू में लॉकडाउन में हुई एकेडमिक बैठक, पूछने पर रजिस्ट्रार ने पेश की सफाई वाराणसी। कोरोना वायरस-19 के संक्रमण को देखते हुए पूरे देश मे यूनिवर्सिटी, डिग्री कालेज, इंटर कालेज और सभी विद्यालयों को अनिश्चितकालीन बंद किया गया है। शिक्षा की नगरी कही जाने वाली काशी में भी सभी शिक्षण संस्थान बंद हैं पर इसी बीच आईआईटी बीएचयू में मंगलवार के एकेडमिक सेशन को लेकर एक अर्जेंट बैठक की गयी, जबकि लॉकडाउन में यह महामारी निषेधाज्ञा का उल्लंघन है। इस बाबत जब आईआईटी बीएचयू के रजिस्ट्रार एसपी माथुर से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वैठक हुई तो थी पर आईआईटी को खोलने के लिए नही बल्कि सरकार की आज्ञा के बाद जब खुलेहलगा तो एकेडमिक सेशन कैसे चलेगा उसपर चर्चा की गई है। आईआईटी बीएचयू शासन की गाइडलाइन के अनुसार ही खुलेगा। आईआईटी बीएचयू के रजिस्ट्रार एसपी माथुर के द्वारा जारी पत्र में 32वीं एकेडमिक एडवाइजरी कमेटी की मीटिंग 28 अप्रैल यानी आज के लिए आहूत की गई थी । इस पत्र में कमेटी के चेयरमैन सहित सभी मेम्बर्स को सुबह 10 बजे तक एकेडमिक अर्जेंट मीटिंग के लिए बुलाया गया था। लॉकडाउन में जब सोशल डिस्टेंसिंग की बात की जा रही और शिक्षण संस्थानों में सभी प्रकार के किए बंद है उसके बाद भी यह मीटिंग नियमों की धज्जियां उड़ाने के लिए काफी थी। इस संबंध में जब रजिस्ट्रार एसपी माथुर से फोन द्वारा बात की गई और पूछ गया कि क्या एकेडमिक सत्र आरंभ करने के लिए यह मीटिंग की गई है तो उन्होंने साफ इंकार कर दिया और कहा कि सख्त आदेश है मिनिस्ट्री का जाव वहां से कोई आदेश आएगा तो खोला जाएगा संस्थान। जब उनसे लॉकडाउन में मीटिंग की बात की गई तो उन्होंने कहा कि आज एकेडमिक सेशन आगे कैसे चलेगा उसके लिए मंत्रणा की गई है वो भी सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के साथ । ...


Leave a comment