नयी दिल्ली /उत्तरप्रदेश /अयोध्या   7379
कल पांच अगस्त को पांच सदियों के संघर्ष के बाद अयोध्या में रामलला की जन्मभूमि पर भव्य व दिव्य राममन्दिर निर्माण के लिए सुनिश्चित मुहूर्त पर भूमिपूजन सम्पन्न हुआ।भारत के प्रधानसेवक ने 29 वर्ष बाद जब वे कारसेवक के रूप में रामलला का दर्शन किये थे उसके बाद कल उन्होंने ही भारत के राष्ट्रनायक श्रीराम के जन्मस्थान पर साष्टांग दर्शन किया तथा श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास की ओर से आमंत्रित व आहूत भूमिपूजन कार्यक्रम में जजमान के रूप सम्मिलित होकर नया इतिहस्स भी रच दिया। मोदी जी पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने अयोध्या में हनुमान गढ़ी व रामलला के दर्शन किये तथा मन्दिर के भूमिपूजन के जजमान बने।अयोध्या समेत पूरे देश में खुशी के इस ऐतिहासिक क्षण पर दीप जलाए गए प्रकाश फैलाया गया तथा नागरिकों ने भजन पूजन व कीर्तन करके इस कार्यक्रम को अजर व अमर कर दिया।वास्तव में आज़ाद भारत के सांस्कृतिक इतिहास की सबसे बड़ी घटना है।इसे भारत के प्राचीन राष्ट्रवाद की पुनर्प्रतिष्ठा के रूप में देखा जा रहा है।जिसमे श्रीराम राष्ट्रनायक के रूप में फिर से लोकमंगल करने को स्थापित हो रहे हैं। ...


Leave a comment